Friday, August 29, 2008

मुझे श्रधांजलि दीजिये ...


जन्म -३०.०८. 80 से ... ... ...
अत्यंत दुःख के साथ ये सूचित करना पड़ रहा है की मैं अनवर कुरैशी आत्मज ...श्री ए जे कुरैशी , का आज के दिन जीवन का एक महत्त्वपूर्ण वर्ष और कम होने जा रहा है ,
इस दुखद समय में आप सभी ब्लागर साथियों के निवेदन है आप सभी इस ब्लॉग में आकर मेरी जीवित आत्मा को शान्ति पहुंचाएं ...और इश्वर से प्राथना करे की मेरा बाकी का बचा हुआ जीवन किसी के काम आ सके ....
शोकाकुल ...
अनवर कुरैशी
रायपुर { छ.ग }
नोट :- सभी ब्लागर साथयों से निवेदन है की टिपण्णी पश्चात् भोजन की व्यस्था स्वयं के घर पर है कृप्या भोजन उपरांत ही प्रस्थान करे ..धन्यवाद ...

12 टिप्पणियाँ:

Anil Pusadkar on August 29, 2008 at 7:34 PM said...

badhai ho chilgoze,hum to tumhare ghar ko apna ghar mante hai,ab batao miyan bach ke kahan jaoge

दिनेशराय द्विवेदी on August 29, 2008 at 8:04 PM said...

जीवन, चलने का नाम। आप ने इस मार्ग में एक वर्ष का सफर और तय कर लिया।
बधाई। और उस दिन की भी जिस दिन आप पैदा हुए थे।

पंगेबाज on August 29, 2008 at 11:35 PM said...

भगवान आपकी आत्मा को शांती प्रदान करे. उम्मीद है की आपकी अंतरा आत्मा आज के बाद आपको तंग नही करेगी और आज एक बढिया जीवन जियेगे :)

अनुराग on August 30, 2008 at 12:35 AM said...

is dukh ke mauke par kripya courirer se mishthaan bhijvaaye.

COMMON MAN on August 31, 2008 at 5:28 AM said...

ye dukh ke mauke baar-baar aayen aur hum dukhi log aapke yahan dukhi hriday se daawat khayen. aapki peeth khuja di hai, maine

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन on August 31, 2008 at 10:38 AM said...

बहुत सुंदर! बहुत बधाईयाँ! प्रभु आपको सुखी करे!

राज भाटिय़ा on September 3, 2008 at 12:57 PM said...

भाई जनम दिन की मुबारक साथ मे रमाजान की भी मुबारक वाद, भाई तुम जियो ओर खुब जीयो ओर तुम्हारा जीवन खुशियो से भरपुर हो.
रमाजान या रमादान अगर गलती कही हो तो माफ़ करना, मे तो अपने त्योहारो के नाम भी भुल गया हू
धन्यवाद

Hyderabadi on September 3, 2008 at 4:40 PM said...

मुबारक हो Anwar Qureshi भाई और आने वाले साल के लिए नेक तमन्नाएं क़बूल फ़रमाएँ

सतीश सक्सेना on September 4, 2008 at 4:34 AM said...

बधाई ! आपका अंदाज़ पसंद आया !

सतीश सक्सेना on September 4, 2008 at 4:34 AM said...

बधाई ! आपका अंदाज़ पसंद आया !

महामंत्री-तस्लीम on September 11, 2008 at 3:28 AM said...

बहुत खूब।
कहते हैं कि अनवर का है अंदाजे बयाँ और...

Advocate Rashmi saurana on September 19, 2008 at 1:03 AM said...

ha ha ha............. badhai ho. andaj bhut nirala hai aapka.

 

Copyright 2008 All Rights Reserved | Revolution church Blogger Template by techknowl | Original Wordpress theme byBrian Gardner